Politics

डोकलाम में जीत के बाद यूएन ने दी मोदी और भारत के बारे में ऐसी रिपोर्ट, पुरे देश में मचा हड़कंप

नई दिल्ली : डोकलाम विवाद में जिस तरह से पीएम मोदी ने एक शांत और सख्त रुख बनाये रखा, उसकी दुनियाभर में तारीफ़ की गयी. चीन की ओर से तरह-तरह की धमकियां दी गयीं, झूठ व् भ्रम फैलाये गए लेकिन जितना ज्यादा चीन गाल बजा रहा था, पीएम मोदी उतना ही ज्यादा शांत थे और अपने कार्यों में व्यस्त थे. अमेरिका की ओर से चीन के रुख को बचकाना और भारत के रुख को गंभीर व् समझदार भी कहा गया था. अब यूएन से भी भारत के पक्ष में एक जबरदस्त खबर सामने आ रही है.

यूएन ने माना भारत का लोहा !

डोकलाम मसले पर भारत की जीत के बाद दुनिया में सकारात्मक प्रभाव वाले देशों की सूची में भारत, अमेरिका और चीन से भी ऊपर निकल गया है. यदि आपको लगता है कि अमेरिका दुनिया का सबसे प्रभावशाली देश है, तो आपको इसपर फिर से विचार करने की जरूरत है. अमेरिका भले ही ज्यादा ताकतवर है, मगर संयुक्त राष्ट्र के एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन सर्वे में दुनिया के सबसे प्रभावशाली देशों में भारत का स्थान अमेरिका व् चीन से भी आगे आया है.

इसमें अमेरिका को खराब रेटिंग मिली है. हालांकि अमेरिका का पड़ोसी कनाडा इस सर्वे में सबसे ऊपर है, वहीँ डोकलाम विवाद पर सोमवार को चीन से अपनी बात मनवाने वाला भारत प्रभावशाली देशों के इस सर्वे में अमेरिका और चीन से ऊपर है. भारत 53 फीसदी लोगों की पसंद के साथ चीन से एक पायदान ऊपर है.

विश्व पटल पर 12 प्रभावशाली देशों की सूची में भारत 7वें स्थान पर आ गया है, जबकि चीन को 8वां स्थान मिला है. वहीँ अमेरिका इस सूची में नौवें स्थान पर है. अमेरिका की स्थापना करने वाले संस्थापक इस देश को स्वतंत्रता और लोकतंत्र के मामले में दुनिया में सबसे अव्वल बनाना चाहते थे, लेकिन इस सर्वे के बाद ऐसा लगता है कि अमेरिकी चौधराहट दुनिया में घटती जा रही है.

lpsos MORI के नए सर्वे में 25 देशों के 18 हजार लोगों से जवाब मांगा गया था. भारत की नेतृत्व क्षमता का लोहा दुनियाभर के लोग मानने लगे हैं. पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक और चीन के साथ विवाद में भारत के सख्त मौन की जीत की चर्चा दुनियाभर में की जा रही है. पीएम मोदी का कद इससे और भी ज्यादा बढ़ गया है. भारतीय अर्थव्यवस्था भी चीन को पछाड़ते हुए तेजी से बढ़ती ही जा रही है. ऐसे में आने वाले कुछ ही वर्षों में भारत एशिया की एक महाशक्ति बनने जा रहा है. अमेरिका, जापान समेत दुनियाभर के देश भारत के साथ जुड़ना चाहते हैं, विदेशी निवेशक भारत में निवेश करने को उत्सुक हैं. चीन के लिए ये वाकई में एक चिंता की खबर है.

 

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर
और ट्विटर पर करे!

loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Aaj Kal Khabar Latest Hindi News, Politics News, Sports News, Bollywood News, Health Tips, Business News, Teacnology News, etc...

Follow Us

Facebook

TOTAL VISITORS

380276

अपनी भाषा चुनिए

Copyright © 2016 - 2018 Aaj Kal Khabar

To Top